भारतीय फिल्मे जिसमे दिखाया जाने वाला लव मेकिंग शायद रियल था

0
7930
Real Sex Scene in Bollywood movies
Photo Credit: Youtube

भारत में सेक्स एक ऐसा विषय है जिस पर लोग कम से कम बात करना चाहते है और अगर बात रियल सेक्स की हो जिसे परदे पर सच में दिखाया जाए तो यह अपने आप में एक खबर है जिसपर विवाद होना बिलकुल लाजिमी है। इसके बाबजूद भारत में कुछ ऐसी फिल्मे बनी जिसके बारें में लोगो की राय है कि परदे पर दिखाए जाने वाला सेक्स सीन रियल था।

सिंस

सिन्स मूवी को अपनी हॉट और बोल्ड सीन के कारण बैन कर दिया गया था और इस मूवी में एक्ट्रेस सीमा ने कई सीन दिए की बोल्ड से बोल्ड एक्ट्रेस भी करने से मना कर दे। फिल्म के एक सीन में सीमा बैक साइड से पूरी तरह से न्यूड दिखाई देती है।

माया मेम साहेब :

1993 में आयी मूवी माया मेमसाब में एक्ट्रेस दीपा साही ने शाहरुख़ खान के साथ बहुत ही हॉट और अंतरंग सीन दिए और एक सीन में शाहरुख़ खान ने पूरी तरह से न्यूड हो कर सीन दिया था। अगर अफवाहों की बात करें तो इस सीन में जान डालने के लिए दीपा साही और शाहरुख़ खान ने होटल में एक दूसरे के साथ समय भी बिताया था।

[इसे भी पढ़े : बॉलीवुड की बोल्ड फिल्में जिनमें एक्ट्रेस ने दिए बहुत बोल्ड सीन ]

गांडु :

गांडु एक बंगाली फिल्म है जो कौशिक मुखर्जी द्वारा निर्देशित है। भाषा और नग्नता और सेक्स के दृश्यों के कारण फिल्म ने कुछ विवाद पैदा कर दिया है। सेक्स के दृश्यों के दौरान दर्शकों मूवी छोड़कर जाने लगे , खासकर जब मुख्य अभिनेता अनुब्रता बासु एक प्रेमी दृश्य में अपने खड़े लिंग को दिखाते हैं।

छत्रक :

छत्रक 2011 में श्रीलंकाई निदेशक विमक्थी जयसुंदरा द्वारा निर्देशित एक बंगाली नाटक फिल्म है। इस फिल्म को दुनियाभर में कई फिल्म समारोहों में प्रदर्शित किया गया था। इसे 2011 के कान फिल्म समारोह में निदेशकों की Fortnight में भी दिखाया गया था। फिल्म की एक्ट्रेस पोली डैम और अनुब्रता बासु के बीच सेक्स सीन के कारण इस फिल्म को इंडिया में बन कर दिया गया था क्योंकि पोली डैम सच में अनुब्रता बासु से ओरल सेक्स लेती दिखाई देती है।

[इसे भी पढ़े : बॉलीवुड एक्ट्रेस जिन्होंने ब्रैस्ट इम्प्लांट करवाया]

कॉस्मिक सेक्स :

अमिताभ चक्रवर्ती द्वारा लिखित और निर्देशित किया गया है और पुतुल महमूद द्वारा निर्मित है, कॉस्मिक सेक्स एक 2014 आर्ट-हाउस इंडिपेंडेंट बंगाली फिल्म है। फिल्म एक युवक क्रिपा की कहानी है एक रात सेक्स और हिंसा के कारण कोलकाता से भाग जाता है तब उसे अपनी मरी हुई माँ से मिलती हुई एक साध्वी से मुलाकात होती है। वह उसे आश्रय देती है और सेक्स के माध्यम से उसे यात्रा करने के लिए सिखाती है। इस फिल्म में सेक्स को बेहिचक होना चाहिए, यह बताने की कोशिश हुई है।