गले में खराश के घरेलु और प्राकृतिक उपचार

0
677
Home and Natural remedies for Sore Throat
credit: i.ytimg.com

क्या आपको गले में अकसर खराश या दर्द होती है? खाना खाने में परेशानी या लार नीचे ले जाने में दिक्कत होती है? ये आने वाले जुखाम का पहला संकेत हो सकता है। गले में खराश के आम लक्षण हैं जलन, खुरदरापन और दर्द इनके कारण खाना निगलने और बात करने में कठिनाई होती हैं । इस समस्या के कई कारण हो सकते हैं जिनमे से सर्वोच्च हैं बैक्टीरिया या वायरल संक्रमण । इसके कुछ अन्य कारण भी है जैसे सूखी गर्मी और धूम्रपान। ये एलर्जी के कारण भी हो सकता है। बाज़ार में बड़ी सख्या में गले में खराश के इलाज के लिए दवाएं उपलब्ध हैं, लेकिन उन दवाओं की ज़रूरत किसे है अगर अद्भुत प्राकृतिक घरेलू उपचारों के ज़रिये गले की खराश का इलाज तुरंत किया जा सकता है ।

नमक वाला पानी

आपको जब भी गले में खराश हो तो इसे ठीक करने के लिए नमक के पानी से गरारे करने चाहिए, ये सबसे पुराना और बेहतरीन उपाय है। गुनगुने पानी का एक गिलास लेकर उसमे आधा चम्मच नमक डालें और उसे अच्छी तरह से मिला लें। विशेष रूप से बिस्तर पर जाने से पहले इस पानी से 3-4 बार कुल्ला करें, । यह नमक पानी एक एंटीसेप्टिक के रूप में कार्य करता है। श्लेष्मा झिल्ली (mucous membrane) से पानी निकालकर यह गले से अतिरिक्त बलगम को साफ़ करने में भी मदद करता है । नमक का पानी दर्द से भी राहत देने में सहायता करता है । आप नमक की जगह बेकिंग सोडा का भी इस्तमाल कर सकते है ।

शहद

शहद अपने विरोधी बैक्टीरियल गुणों के लिए जाना जाता है। एक चम्मच गर्म शहद लेकर, उसमें काली मिर्च पाउडर और अदरक के रस की कुछ बुँदे मिलकर गर्म करे और गर्म गर्म ही इसे सेवन करें । इस मिश्रण से आपका दर्द कम होने के साथ साथ गले में खराश भी ठीक हो जाएगी । शहद को अतिपरासारी आसमाटिक (hypertonic osmotic) भी कहा जाता है, क्यूंकि इसमें सूजन के ऊतकों से पानी खीचने की शक्ति होती है जिसके परिणाम स्वरुप सुजन कम हो जाती है। आप शहद के लाभ गर्म पानी या हरी चाय एक चम्मच डालकर भी ले सकते हैं ।

चाय

चाय आपके शरीर को विभिन्न प्रकारों के संक्रमण के साथ लड़ने में मदद करती है। चाय की पत्तियों में कुछ आवश्यक एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो प्रतीक्षा प्रणाली को बढ़ावा देते हैं। आप इनमे से किसी भी प्रकार की चाय का चुनाव कर सकते हैं हर्बल या गैर हर्बल ये सभी आपके गले में खराश के लिए लाभदायक होती हैं। इनमे से सबसे अच्छा विकल्प शहद की एक चम्मच के साथ मिश्रित हरी चाय है ।

चिकन सूप

आपने जुखाम के इलाज के लिए शायद कई बार इस उपाय को करने की कोशिश की होगी और आपको ये पता होगा ये उपाय कितना कारगर है। गले में खराश के लिए भी चिकन सूप पीना लाभकारी हो सकता है। शोरबा/सूप में प्रमुख घटक सोडियम होता है जो कि सूजन को कम करने में बहुत कारगर होता है । गर्म शोरबा गले को आराम पहुँचाता है और संक्रमण से लड़ने के लिए आपके शरीर को अतिरिक्त ऊर्जा प्रदान करता है ।

नींबू

रोगाणुरोधी गुणों के कारण नींबू गले में खराश के इलाज के लिए एक कारगर उपाय है। इसमें मौजूद विटामिन सी संक्रमण का इलाज करता है और प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देता है । निम्बू को आधा काटकर उस पर थोडा नमक छिड़क कर इसे चाटें । आप अपनी समस्या का इलाज करने के लिए गर्म नींबू पानी का उपभोग कर भी सकते हैं। इसके लिए 1 गिलास गर्म पानी में 1 चम्मच निम्बू का रस डालें , इसका स्वाद बढ़ाने के शहद भी डाल सकते हैं। यह उपाय तुरंत राहत प्रदान करेगा । गले में खराश की समस्या के इलाज के लिए भी अन्य खट्टे फलों की मदद भी ले सकते हैं ।

दालचीनी

दालचीनी बैक्टीरियल विरोधी गुण के साथ एक और आश्चर्यजनक हर्ब है। 2 कप पानी में 1 टुकड़ा दालचीनी और एक चुटकी काली मिर्च ले कर 5 मिनट तक उबालकर छान लें और फिर इसमें एक चम्मच शहद मिला कर सेवन करे । गले में खराश से लेकर आम सर्दी के लिए , ये पेय सब से तत्काल राहत दिलाता है । दालचीनी अपने सूजन कम करने के गुण के कारण गले की सूजन को कम करने में मदद करता है। आप गले दर्द और खराश को कम करने के लिए दालचीनी के तेल में शहद मिलाकर दिन में 2 बार ले सकते हैं ।

मेथी

मेथी के गले में खराश को ठीक करने के लिए एक शक्तिशाली हर्ब है। 6 कप पानी में 2 चम्मच मेथी दाना मिलकर आधे घंटे तक उबालकर छान लें । इस पानी से दिन में 3 बार कुल्ला करें । मेथी अपनी सूजन कम करने के गुण के लिए जाना जाता है और यह बलगम को खत्म करने में भी मदद करता है ।

Disclaimer : mystoryfeed.com has taken though all possible measures to ensure accuracy, reliability, timeliness and authenticity of the information, we assume no liability of any loss, damage, expense or anything whatsoever as a result of the implementation of the advice/tips given. If you suspect any medical condition, kindly consult your doctor or professional heathcare provider.