कमर दर्द से छुटकारा दिलाने वाले दस घरेलु और प्राकृतिक नुस्खें

0
99
10 Homemade remedies for backache
Image 1

कमरदर्द अधेड़ उम्र में और बुढ़ापे में होने वाली आम बीमारी है पर आजकल ये बिमारी कम उम्र में ही होने लगी है। इसके पीछे की वजह आजकल की दिनचर्या है। लगातार बैठे रहने से, ठीक से न सोने से और कोई व्यायाम न करने से ये बिमारी आज आम हो चुकी है। कूल्हे के पास वाले जगह पे दर्द होना, रीढ़ की हड्डी का लचीलापन कम होना और सोने में तकलीफ होना कमरदर्द के लक्षण हैं। कमरदर्द के कई कारण हो सकते हैं जैसे मांसपेशियों में खिंचाव, असंतुलित खानपान, शारीरिक व्यायाम न होना, गठिया, कठोर शारीरिक परिश्रम, बैठने का गलत ढंग इत्यादि। महिलाओं में कमर दर्द प्रसव के कारण भी होता है। कमर दर्द दिनचर्या एवं जीवन शैली से जुडी बिमारी है। कमर दर्द से रोजमर्रा के जीवन कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। जीवनचर्या की आदतों में सुधार कर के और व्यायाम कर के कमर दर्द से छुटकारा पाया जा सकता है। कमर दर्द से छुटकारा पाने के कुछ घरेलु और प्राकृतिक उपाय भी है। आईये जानते हैं कमर दर्द से छुटकारा पाने के ऐसे ही दस घरेलु और प्राकृतिक नुस्खें।

1.अदरख

अदरख जिसका इस्तेमाल पेट की तकलीफों के लिए भी होता है, कमर दर्द में भी काफी फायदेमंद साबित होता है। अदरख में मौजूद तत्व सूजन को रोकने में मदद करते हैं और कमरदर्द से राहत दिलाते हैं.

  • तकलीफ वाली जगह पर अदरख का पेस्ट लगाने के बाद युकलिप्टुस का तेल लगा ले। कमरदर्द से राहत मिलेगी।
  • अदरख के बारीक टुकड़े कर के एक भगोने में पानी के साथ उबाल ले। उबालने के बाद जब पानी सामान्य तापमान में आ जाये तब इसे छान ले। छानने के बाद इस पानी में शहद डाल कर पिए। अदरख की इस चाय को रोजाना दो या तीन बार पियें। आप जल्द ही फर्क महसूस करेंगे।
  • एक छोटी चममच अदरख चूर्ण, आधी छोटी चममच काली मिर्च पाउडर और दो तीन कली लौंग को एक साथ उबाल कर आप हर्बल चाय भी बना सकते हैं। इस हर्बल चाय के नियमित सेवन से भी आप कमर दर्द से छुटकारा पा सकते हैं।

2.तुलसी

कमर दर्द में तुलसी भी बहुत काम आता है।
आठ दस तुलसी की पत्तियों को पानी में उबाल ले। पानी ठंडा हो जाने के बाद इसमें एक दो चुटकी नमक मिला ले। अगर दर्द कम हो तो इस काढ़े को दिन में एक बार पिए और अगर दर्द ज्यादा हो तो इसे दिन में दो बार पिए। आपको कमर दर्द से आराम मिलेगा।

3.खसखस

कमरदर्द के लिए खसखस भी चमत्कारी साबित होता है।
सौ ग्राम खसखस और सौ ग्राम मिश्री की डली को बारीकी से पीस ले। एक गिलास दूध के साथ इस चूर्ण को दिन में दो बार ले। कमरदर्द से आराम मिलेगा।

4.हर्बल तेल

युकलिप्टुस, बादाम, जैतून, नारियल इत्यादि के तेल को हर्बल तेल कहते हैं। कमरदर्द में हर्बल तेल भी बहुत असरदार होता है। इन तेलों को हल्का गर्म कर के कमर पर लगाने से राहत मिलता है।

5.लहसुन

कुदरत ने काफी ऐसी चीजें दी है जिस के सेवन से हम बिमारियों से दूर रह सकते हैं। लहसुन भी इन्ही में से एक है। औसधीय गुणों से भरपूर लहसुन भी कमरदर्द में काफी फायदेमंद है। रोजाना खाली पेट केवल लहसुन की दो तीन कली चबाने से भी कमरदर्द में काफी आराम मिलता है। आप लहसुन के तेल से मालिश भी कर सकते हैं। इस से भी कमरदर्द में काफी आराम मिलता है। लहसुन के तेल की बनाने की विधि कुछ इस प्रकार है। एक भगौने में थोड़ा सा सर्सो का तेल, सीसम का तेल या नारियल का तेल गर्म कर ले। जब तेल गर्म हो जाए तो उसमे लहसुन की कुछ कलियाँ भूरे होने तक भून ले। जब ये ठंडा हो जाए तब इस तेल से कमर में हलकी मालिश कर ले। मालिश के पश्चात नहा ले। कमर दर्द से राहत मिलेगी।