दौड़ने या जॉगिंग के दस प्रमुख स्वास्थ्य लाभ

0
168
Top 10 Health Benefits of Jogging
credit: missionsharingknowledge.com

आजकल के दौर में जब इंसान मशीन जैसा हो गया है। घंटो एक जगह बैठकर काम करना और कोई भी शारीरिक काम न करना जीवन शैली से जुडी भिन्न बीमारियों को बुलावा देता है। 30-40 वर्ष के बाद से ही शरीर में विकार उतपन्न होने लगते है। सिर्फ दिन भर में थोड़ा वक़्त दौड़ने और टहलने से ही हम लम्बे समय तक स्वस्थ रह सकते है। दौड़ना दुनिया का सबसे पुराना और प्रचलित व्यायाम है। हर रोज दौड़कर बस 5-6 किलोमीटर का फासला तय कर लेने से भी इंसान रोगों से हजारों मील का फासला बना सकता है। दौड़ने से शरीर की शारीरिक क्षमता बढ़ती है, ह्रदय सम्बन्धी विकारों के उतपन्न होने की गुंजाइश न के बराबर होती है और मांसपेशियां मजबूत बनती है। यूँ तो दौड़ने के बहुत सारे फायदे हैं पर हम यहाँ दौड़ने के दस प्रमुख फायदों से आपको परिचिति करा रहे हैं

1. मजबूत हड्डियां और मांसपेशियां

जॉगिंग से मांसपेशियां मजबूत होती है और कूल्हे, पैरों और कमर की हड्डियों में शक्ति का संचार होता है। और व्यायामों की तुलना में जॉगिंग या दौड़ने से मांसपेशियां नहीं बढ़ती या पुट्ठों में उभार नहीं आता लेकिन हड्डियां मजबूत जरूर होती है। जबतक आप दौड़ने और जॉगिंग के साथ अच्छा आहार लेते रहेंगे आप तंदरुस्त, मजबूत और स्वस्थ महसूस करते रहेंगे।

2. अच्छी नींद

जॉगिंग और दौड़ना एक अच्छी नींद के लिए बहुत मददगार है। इस से अादमी थक जाता है और शरीर से ऐडरालीन नामक हॉर्मोन का स्त्राव होता है जिस से शरीर का खिंचाव कम होता है। अगर आप रोज दौड़ते हैं या जॉगिंग करते है तो आपको हर रोज अच्छी नींद आएगी और अनिद्रा की बीमारी दूर होगी |

3. मधुमेह पर लगाम

आज मधुमेह की बीमारी लोगों में ३० वर्ष के बाद से ही दिखाई देनी शुरू हो गयी है। दौड़ने से इंसुलिन बनने की प्रक्रिया दुरुस्त होती है और रक्त में शर्करा की मात्रा नियंत्रित रहती है। नियमित रूप से जॉगिंग करने अथवा दौड़ने से बहुत हद तक मधुमेह पर लगाम लगाया जा सकता है।

4. अस्थमा के लिए भी हितकारी

अपनी जीवन शैली धीरे धीरे दौड़ने के अभ्यास को बढ़ाते रहने से अस्थमा पर भी नियंत्रण किया जा सकता है। इससे फेफड़े मजबूत होते हैं और श्वसन प्रक्रिया में सुधार होता है।

5. दिल का रखवाला

नियमित रूप से दौड़ने या जॉगिंग करने से ह्रदय को भी बहुत लाभ पहुंचता है। इससे रक्तवाहिकाओं में रक्त का संचार होता है और उच्च रक्तचाप पर बहुत हद तक नियंत्रण में रखने में सहूलियत होती है। जॉगिंग करने से आप अपनी उम्र कम से कम छ: वर्ष तक बढ़ा सकते हैं।

6. चमकता चेहरा

जॉगिंग के अच्छे परिणाम आपके चेहरे पर भी दिखाई देते है। नियमित रूप से जॉगिंग करने या दौड़ने से पूरे शरीर में रक्त का संचार होता है और इस से चेहरे पर निखार आता है। ये झुर्रियों को भी काफी समय तक चेहरे से दूर रखने में भी मददगार साबित होता है |

7. मानसिक रूप से भी स्वस्थ बनाता है

दौड़ना सिर्फ शरीर के लिये ही नहीं दिमाग के लिए भी बहुत उपयोगी होता है। जॉगिंग करने से शरीर में एंडोफ्रिन नामक हॉर्मोन का स्त्राव होता है जिस से आदमी प्रसन्न एवम चित्त से शांत हो जाता है। यह नकरात्मक विचारों को भी पनपने से रोकता है। जॉगिंग इंसान के अंदर के तनाव को मिटाता है और आदमी को नैसर्गिक ख़ुशी प्रदान करता है।

8. कैंसर के खतरे को कम करता है

जॉगिंग कैंसर का इलाज तो नहीं है लेकिन ये कैंसर के खतरे को बहुत हद तक काम कर देता है। खुदा न करे की किसी को कैंसर जैसी बिमारी हो पर फिर भी कोई कैंसर की बीमारी से जूझ रहा है और तो उसके लिए कीमोथेरेपी के साथ साथ दौड़ना भी कैंसर से लड़ने में बहुत सहायक साबित होगा।

9. वजन कम करता है

दुनिया में न करोडो लोग मोटापे के शिकार है। लाखों करोडो रुपये वजन कम करने वाली भ्रामक दवाओं और उपचारो पे खर्च हो जाते हैं। दौड़ना वजन कम करने का एक बहुत ही सस्ता और असरदार तरिका है। दौड़ने से शरीर में अत्यधिक वसा का निर्माण नहीं होता। शरीर में मौजूद वसा दौड़ने से नष्ट होती है।

10. जॉगिंग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाती है

दौड़ने अथवा जॉगिंग करने से शरीर में बैक्टीरिया और अन्य संक्रमण उतपन्न करने वाले जीवाणुओं से लड़ने वाली कोशिकाओं का निर्माण होता है। ये कोशिकाएं प्रतिरोधक क्षमता को बढाती है और संक्रमण से होने वाली बीमारियां जैसे सर्दी, जुकाम वायरल फीवर इत्यादि को भी रोकती हैं

SHARE