प्यार के कारण आपके शरीर में क्या क्या आकर्षक बदलाव आते है

0
606
fascinating things happen to you and your body when you fall in love
Credit: dumpyourphoto.com

अगर मनुष्य सबसे सुंदर अनुभूति को अनुभव करने में असमर्थ होता जिसे प्यार कहते है तो इंसानों ने दुनिया के सबसे सुन्दर और महान संगीत, कला , साहित्य या फिल्म का निर्माण नहीं कर पाता और हम भी मानव अस्तित्व के सबसे गहरे पहलुओं में से एक की जानकारी नहीं होती | प्यार में पड़ने का मतलब है एक ही समय में भ्रामक, डरावना , मजाकिया, और जीवन जीवन बदलने जैसा , सब कुछ एक साथ होना है|

Surprising Ways Love may Affects you and Your Body
Credit: radikal.ru

प्यार में होने के कई शारीरिक प्रभाव आप के लिए अदभुत भी हो सकते है वैज्ञानिक मानसिक और शारीरिक लक्षण जिससे पता चलता है कि आपको प्यार का बुखार चढ़ चूका है, बताने में सक्षम हो पाए है और दिल का जोर से धड़कना, घबराहट , जुनूनी सोच इत्यादि इसके कुछ लक्षणों में से है |

हेलन फिशर,जैविक मानवविज्ञानी और Why We Love के लेखक, ने प्यार में पड़ने की प्रक्रिया को,वासना , आकर्षण, और लगाव, तीन पड़ावों में बांटा है और प्‍यार के हर एक पड़ाव के लिए अलग-अलग तरह के हार्मोन्स और मस्तिष्क रसायन उत्तरदायी होते हैं। रिश्ते को जारी रखने या तोड़ने के लिए अपनी इच्छा भी इन मस्तिष्क संबंधी कारकों से प्रभावित होती है|

प्यार शारीरिक रूप से नशे की लत है

Love is physically addictive
Credit: giphy.com

वैज्ञानिकों ने पाया है कि प्यार में पड़ने के बाद मस्तिष्क में वही क्षेत्र सक्रिय होता है जो कोकीन लेने के बाद नशेड़ी के दिमाग में सक्रिय होता है
और शोधकर्ताओ ने यह भी पाया है कि प्यार में पड़ने के बाद दोपमिनेर्गिक स्ब्कोर्तिकल सिस्टम (dopaminergic subcortical system),स्नायविक क्षेत्र(neurological region) भी कोकीन के नशेड़ी के दिमाग में जल उठता है और जब यह क्षेत्र और दुसरे क्षेत्र काम करने लगते है तब वो ” उत्साह उत्प्रेरण रसायन ” हॉर्मोन जैसे डोपामाइन , ऑक्सीटोसिन, एड्रेनालाईन, वैसोप्रेसिन रिलीज़ करते है| ऑक्सीटोसिन को प्यार का हॉर्मोन भी कहते है और आक्रामकता और क्षेत्रीय व्यवहार के लिए वैसोप्रेसिन होरोने जिमेदार होता है| इसलिए जब आप प्यार में पड़ते है आपको इतना अद्भुत लगता है और जब आपसे कोई उसे छिनने कि कोशिश करता है, आप गुस्से में आग बबूला हो जाते है |

2. दिल की धड़कन और हथेली में पसीना

Sweaty palms and a fluttering heart
Credit: orig15.deviantart.net

जब आपके मन में किसी के लिए आकर्षण पैदा होता है तब मस्तिष्क की खुशी केंद्र में रक्त के प्रवाह में वृद्धि हो जाती है और फलस्वरूप एड्रेनालाईन और नोरेपिनेफ्रिन हार्मोन आपके शरीर में रिलीज़ होता है और इन होर्मोंस के कारण आपके दिल दिल के धड़कन में तेज़ी और आपके हथेली में पसीना आता है | एड्रेनालाईन और नोरेपिनेफ्रिन के कारण आपमें उत्साह , तृष्णा और ध्यान केंद्रित जैसी भावनाओं को जन्म होता है और इनके कारण ही आपका दिल और दिमाग केवल उनके बारें में ही सोचता है और आपका मन और कामो में नहीं लगता है |

पेट में तितलियों का उड़ना

butterflies in the stomach
Credit: lovethispic.com

एक उत्तेजना जिसे हम “हमारे पेट में तितलियों ‘ कहते हैं , वास्तविकता पर आधारित है| प्यार में पड़ना ऑक्सीटोसिन हॉर्मोन रिलीज़ करता है जिसके कारण हमे ख़ुशी का अनुभव होता है मगर साथ ही साथ यह कोर्टिसोल हॉर्मोन भी रिलीज़ करता है जिसके कारण स्ट्रेस या अवसाद होता है तभी प्यार भावनात्मक , भ्रामक और तनावपूर्ण होता है |

तनाव में कमी

Calm the stress
Credit: orig02.deviantart.net

जब आप और आप जिनसे प्यार करने लगते है ,एक दुसरे को चुमते है तो आपके तनाव में अचानक से कमी आने लगती है और इसका कारण यह होता है जब आप किस करते है , आपका शरीर अच्छा लगना वाले होर्मोंस डोपामाइन और एन्दोर्फिंस को रिलीज़ करता है |

जुनून का होना

obsessed with your love interest
Credit: popsugar

दोनातेल्ला मराज्ज़िती, पिसा यूनिवर्सिटी में मनोरोग के प्रोफेसर और साइको औषध विज्ञान प्रयोगशाला के निदेशक , ने खोज निकाला कि जब लोग नए नए प्यार में होते है उनके दिमाग में सेरोटोनिन का निर्माण कान होता है | साथ ही साथ उन्होंने यह भी शोध कर पता लगाया कि जो लोग ज़ुनूनी बाध्यकारी विकार से पीड़ित होते है उनके दिमाग में भी सेरोटोनिन का स्तर कम होता है| नया नया प्यार और ज़ुनूनी बाध्यकारी विकार, दोनों परिस्थिति में व्यग्रता और ज़ुनूनी सोच की भावना में वृद्धि होती है इसलिए यह कहा जा सकता है कि नया नया प्यार हल्के और अस्थायी तौर पर
जुनूनी व्यवहार का रूप है

प्यार अँधा होता है

Love is Blind
Credit: i.imgur.com

जब हमे प्यार होता है तब हमारे दिमाग को कौन सा हिस्सा अधिक सक्रीय हो जाता है यह हमने देख लिया मगर क्या आप जानते है कि प्यार में पड़ने के बाद दिमाग का कौन सा हिस्सा काम करना बंद कर देता है या कम कर देता है जिसके कारण हम बार बार एक ही गलती को दुहराते है और प्यार में क्यूँ हम मुर्ख दिखाई देते है |

यूनिवर्सिटी कॉलेज लन्दन की सेमीर जेकी और रुत्गेर्स यूनिवर्सिटी के डॉ हेलेन फिशर ने यह शोध निकाला कि जब आप प्यार में होते है तब हमारे दिमाग का प्रमस्तिष्कखंड(amygdala ), दिमाग का सामने का हिस्सा और उसका आवरण कम काम करने लगते है और दिमाग के इस हिस्से का सम्बन्ध डर से, एक की गलतियों से सीखने से, विश्लेषण और निर्णय से , देरी से संतुष्टि और घटनाओं के परिणाम की भविष्यवाणी से होता है|
दिमाग का यह हिस्सा जो इन महत्वपूर्ण सोच क्षमताओं के लिए जिम्मेदार होता है और अगर यह ढंग से काम ना करे तो हम बार बार एक ही गलती को करेंगे और हमारा शरीर हमे ही धोखा देगा |

आँखों की पुतली का विकास

Eye Pupils starts growing in size
Credit: sopitas.com

जब आप किसी को प्यार से घूरते है तो आपके आँखों की पुतलिया चौडी होने लगती है और सारे उत्साह और घबराहट के कारण स्वायत्त तंत्रिका प्रणाली की सहानुभूतिपूर्ण शाखा उतेजित होने लगती है और इसके कारण आपके आँखों की पुतलिया का आकर बड़ा होने लगता है |

सर दर्द में राहत

Love may reduce the Headache
Credit: tribune.com.pk

प्यार में होने के बाद शरीर में ऑक्सीटोसिन की मात्रा बढ जाती है और जिसके कारण तनाव में कमी आती है इसलिए रोमांस सर दर्द और माइग्रेन होने की आवृत्ति को कम कर सकता है| 2010 में स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के मेडिसिन के विभाग के शोध के अनुसार सर दर्द और माइग्रेन के दर्द होने पर अगर प्यार किया जाए तो इससे काफी राहत मिलती है |