क्रिकेट के अद्भुत रिकॉर्ड

0
220
Photo Credit : artisticocali2015.co

क्रिकेट के मैदान में हमेशा नए नए रिकॉर्ड बनते है चाहे वो रिकॉर्ड खेल के दौरान बने या खेल के बाद या खेल के मैदान में बने या खेल के मैदान के बाहर। क्रिकेट में यह जरुरी नहीं कि रिकॉर्ड हमेशा खिलाड़ियों के द्वारा ही बनाये जाए। कभी कभी यह रिकॉर्ड बड़े ही अद्भुत होते है।

1. भारत इकलौता एक ऐसा देश है जिसने एक दिवसीय मैचों के हरेक प्रारूप का विश्वकप जीता है चाहे वो 1983 का 60 ओवर का विश्वकप हो या 2011 में 50 ओवर का विश्वकप हो या 2007 में खेले गए 20 ओवर का विश्वकप। दूसरी तरफ इंग्लैंड एक मात्र ऐसा देश है जिसने दिवसीय मैचों के तीनो प्रारूपों का विश्वकप हारा है। इंग्लैंड ने 60 ओवर(1979), 50 ओवर(1992) और 20 ओवर (2013 चैंपियंस ट्रॉफी) का फाइनल हारा है।

2. एडम गिलक्रिस्ट ने अपने क्रिकेट जीवन के अंतिम मैच में एक मात्र गेंद फेंकी और सबसे रोचक बात यह है कि उसमे उन्हें विकेट भी हासिल हुआ। गिलक्रिस्ट ने यह कारनामा 2013 में आईपीएल मैच के दौरान किंग्स इलेवन पंजाब की तरफ से खेलते हुए किया। [Read Also: Manushi Chhillar Photos: Hot, Sexy and Beautiful photos of Miss World 2017 Manushi Chillar ]

3. भारत के बापू नाडकर्णी ने 1963-64 में इंग्लैण्ड के खिलाफ तत्कालीन मद्रास(चेन्नई) टेस्ट में लगातार 21 ओवर मेडन डालने का रिकॉर्ड बनाया और इस मैच के दौरान उन्होंने कुल 32 की गेंदबाजी करी और लगातार 21 ओवर मैडन के साथ कुल 27 ओवर मैडन फेंके और केवल 5 रन दिए।

4. वेस्ट इंडीज के पूर्व तेज गेंदबाज कॉर्टनी वॉल्श के नाम अजीबोगरीब रिकॉर्ड है। एक समय टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज़्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज के नाम दो अजीबोगरीब रिकॉर्ड है। एक तरफ कॉर्टनी वॉल्श टेस्ट क्रिकेट में 43 बार जीरो पर आउट हो कर रिकॉर्ड बनाया तो दूसरी तरफ वो 61 नॉट आउट होने का रिकॉर्ड भी अपने नाम किया हुआ है।

5. शिवनारायण चन्द्रपॉल ने 2002 में भारत के खिलाफ 175.1 ओवर खेला और एक बार भी वो आउट नहीं हुए और इस तरफ से उन्होंने एक टीम के खिलाफ बिना आउट हुए सबसे ज्यादा गेंद खेलने का रिकॉर्ड अपने नाम पर किया।

6.