बच्चे के सीने में गाय का दिल!!!

0
396
baby got cows heart
Photo Credit : smartercitieschallenge.files.wordpress.com, paulricken.nl

हम जानते है के मानव शरीर की रचना ऊपर वाले ने व प्रकृति ने इस प्रकार की है की कोई भी कृत्रिम अंग उनकी पूर्ति नहीं कर सकता व यदि मानव शारीर के किसी भी अंदरुनी अंग को यदि किसी कारण वश बदलना भी पड़े तो वह भी मानव अंग से ही बदला जा सकता है।

साथ ही आज के इस वैज्ञानिक युग में भी इस प्रकार शरीर के आंतरिक अंगों का प्रत्यारोपण भी तभी सफल होता है जब वह मानव शारीर के ही आंतरिक अंगों से किया जाए। जैसे किडनी, दिल, लिवर आदि अंगों के बारे में हम यही सुनते है की यह अंग एक व्यक्ति के शरीर से दूसरे के शरीर में प्रत्यारोपित किया गया है।

लेकिन ब्रिटेन में चिकित्सकों ने कुछ ऐसा कमल कर दिखया है जो हैरान करने वाला है, जी हाँ लगभग 8 महीने पहले जन्मे एक नवजात शिशु के शरीर में उन्होंने गाय का दिल लगया व कामयाब भी रहे शिशु की शारीरिक स्तिथि भी ठीक बताई जा रही है। इस कमाल के जरिये चिकित्सकों ने यह साबित कर दिया है के वे कोशिश करे तो क्या सम्भव नहीं कर सकते।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक नोआ ग्वीलिम प्रिटकार्ड नाम के इस बच्चे का जन्म 10 फरवरी को हुआ था व यह नवजात बच्चा होल्ट-ओराम सिंड्रोम नाम की अनुवांशिक बीमारी से ग्रस्त था। चिकित्सकों ने इस नन्हे शिशु की जान इसके छोटे से सीने में गाय का दिल लगा कर बचाई है। चिकित्सकों के मुताबिक बच्चे का दिल अब बेहतर तरीके से काम कर रहा है व बच्चे का स्वास्थ्य भी ठीक है।

जन्म के बाद ही नोआ का ऑपरेशन किया गया था व उसके सीने में धड़क रहे दिल को मानव व् गाय के अंग के हिस्सों से बदल दिया था। यहाँ गौरतलब है की 8 माह के नोआ का दिल बिलकुल ठीक काम कर रहा है। रिपोर्ट के अनुसार नोआ का स्वास्थ्य बिलकुल ठीक है।मुख्य बात यह है की गाय जे हार्ट वॉल्व का इस्तेमाल कभी-कभी आवश्यकता पड़ने पर किया जा सकता है क्योंकि उसमे मौजूद ऊत्तक(टिश्यू) मानव वॉल्व से मिलते-जुलते है जिस वजह से नोआ की जान बचायी जा सकी।

Read more on Weird News in Hindi